Home Blog Page 2

नमकीन दलिया | नमकीन दलिया बनाने की विधि हिंदी में | Namkeen Dalia| Namkeen Dalia Recipe in Hindi

1
how to make dalia upma
Namkeen Daliya recipe
Dalia recipe
नमकीन दलिया | Dalia Upma Recipe

मीठा दलिया खाकर  हम बोर हो जाते हैं  इसलिए मैं दलिया को नमकीन दलिया उपमा की तरह बनाती. उपमा सबको पसंद आने वाली साउथ इंडियन  रेसिपी है  जिसे भारत में लगभग सभी घर में बनाया जाता है. उपमा रवा, सूजी,  दलियाचावल का  आटा, सेवइयां या आजकल  मिलने वाली  क्विनोआ(quinoa) बनाया जाता है. उपमा को कड़ी पत्ता चना दाल और उड़द दाल का तड़का लगाया जाता है. दलिया ज्यादातर उत्तर  भारत में  खाया जाता है . गुजरात में भी इसे काफी तरह से बनाया जाता है .दलिया को गुजरात में   फाड़ा भी कहते है, इससे यहां पर  फाड़ा   नी लापसी,  फाडा  नी खिचड़ी,  फाड़ा उपमा  बनाया जाता है.du2

नमकीन दलिया | दलिया उपमा रेसिपी( Namkeen Dalia Recipe in Hindi)

मीठा दलिया  बार बार खाकर हम बोर हो जाते हैं तब आप नमकीन रेसिपी बना सकते हैं. इस रेसिपी में  प्याज हरी मिर्च सब्जियां और काजू या मूंगफली  डालते है. इस उपमा को बनाने के लिए हम दलिया इस्तेमाल कर रहे हैं इस वजह से यह बहुत हाई फाइबर रेसिपी बनती है  और साथ ही साथ  सब्जियां के कारण यह बहुत  हेल्दी  ब्रेकफास्ट बनता है.  इसका स्वाद भी बहुत बैलेंस होता है जिस वजह से बच्चे और बड़े  इसे आराम से खा सकते हैं. मार्केट में मिलने वाले रेडी टू ईट ब्रेकफास्ट जैसे कॉर्न फ्लेक्स रेडी टू ईट (ready to eat )पोहा रेडी टू ईट उपमा रेडी टू ईट इडली इन सब को ना बना कर घर में ताजा नाश्ता रोज बनाना चाहिए. उपमा ,पोहा ,इडली ,डोसा, सेंडविचेस मुरमुरा पोहा, लेमन राइस आदि सब  हम ब्रेकफास्ट में  आ सकते हैं. जो बच्चों के लिए  और बड़ों के लिए पोषक (nutritious) है.

how to make dalia upma
Namkeen Daliya recipe

[box]Also Check- Masala Oats recipe[/box]

दलिया खाने के फायदे (Daliya Khaane ke fayde)

दलिया whole wheat से बनता है जिसकी वजह से इसमें फाइबर की मात्रा बहुत होती है. यह  दिल के मरीजों के लिए  फायदेमंद है, दलिया  का ग्लिसमिक इंडेक्स(glycemic index) भी बहुत ज्यादा है जिस वजह से यह डायबिटीज (diabetes) के मरीजों के लिए भी बहुत पोषक  है क्योंकि यह खाते ही  तुरंत शुगर नहीं बढ़ाता यह धीरे-धीरे शरीर को ग्लूकोस देता है जिससे ब्लड में शुगर की मात्रा नहीं बढ़ती और एनर्जी भी मिलती है . दलिया में  ब्राउन राइस के मुकाबले दुगुना फाइबर है इसे रिफाइंड भी नहीं किया जाता जिस वजह से  इसमें पोषक तत्व  रहते हैं. दलिया कॉन्स्टिपेशन या कब्ज  की   तकलीफ वाले लोगों के लिए भी बहुत अच्छा है क्योंकि इसमें इनसोल्युबल फाइबर (insoluble fibre)की मात्रा ज्यादा होती है.

[box]Also Check- Healthy Breakfast Recipes[/box]

बाजार में दो-तीन तरह के  दलिया मिलते हैं, मोटा दलिया मीडियम साइज के लिए और बारीक दलिया. उपमा आप किसी भी तरह के   दलिया से  बना सकते हैं. दलिया को स्वादिष्ट बनाने के लिए इसमें पसंदीदा  सब्जियां डालें. इससे दलिया मुलायम भी बनता है और साथ-साथ  इसका स्वाद भी बढ़ता है.  उपमा में मूंगफली काजू डालने से यह और स्वादिष्ट लगता है. उपमा  को   परोसने के समय इस पर  बारिक कद्दूकस किया हुआ नारियल बारीक कटी धनिया और नींबू का रस जरूर डालें.
मैंने दलिया उपमा की स्टेप बाय स्टेप रेसिपी लिखी है और फोटो भी डाले हैं, आपको यह उपमा कैसा लगा यह आप जरूर शेयर कीजिए .

[ingredients title=”नमकीन दलिया /दलिया उपमा में लगने  वाली सामग्री”]

  • दो कप भुना हुआ दलिया (daliya)
  • चार का पानी
  • दो कप कटी हुई सब्जियां( बारीक कटा हुआ गाजर, मटर बारीक कटी हुई लाल पीली शिमला मिर्च, बारिक कटी हुई पत्ता गोभी)
  • 2 बारीक कटे हुए टमाटर
  • एक बारीक कटा हुआ बड़ा  प्याज
  • 2 बारीक कटी हुई हरी मिर्च(  अगर बच्चों के लिए बन रहा हो तो बड़े  टुकड़े डालें  जिसे आप आसानी से अलग कर सके)
  • 20- 25 मूंगफली के भुने हुए दाने या काजू
  • एक चम्मच राई या सरसों
  • एक चम्मच  जीरा
  • दो चम्मच उरद दाल
  • 15 -20nकड़ी पत्ता

[/ingredients]

[directions title=”नमकीन दलिया /दलिया उपमा बनाने की विधि|Step by Step Namkeen Daliya recipe in Hindi”]

  1. मैंने इस रेसिपी में भुना हुआ दलिया इस्तेमाल किया है अगर ना हो तो आप एक छोटा चम्मच तेल डालकर दलिया को भून ले. इसे तब तक भूनें जब तक यह हल्का ना हो जाए इसमें से आपको  भुनी हुई खुशबू आएगी.du9
  2. पानी को एक अलग  बर्तन में उबालने के लिए रख दें
  3. एक  प्रेशर कुकर (pressure cooker) में तेल गर्म करें इसमें राई  या सरसों डालें, जब सरसों   के दाने  फूटने लगे, तो इसमें जीरा  और उड़द दाल  ,चना दाल  डाले. इसे हल्का सा बादामी आने दे.IMG_3558
  4. अब इसमें कड़ी पत्ता और हरी मिर्च डाल दे, और करारा होने दे.IMG_3559
  5. अब इसमें प्याज डालें और  उसे हल्का सा ब्राउन होने तक  पकाए.IMG_3560
  6. अब इसमें   टमाटर छोड़कर   सारी बारीक कटी हुई हरी सब्जियां डाल दे इसे दो-तीन मिनट पकने दें.IMG_3562IMG_3563
  7. अब इसमें  उबला हुआ पानी, नमक, भुनी हुई मूंगफली या काजू डाल दे.IMG_3564IMG_3566
  8. उबला हुआ पानी डालने के कारण इसमें तुरंत ही उबाल आ  जाएगा, उबाल आते ही इसमें भुना हुआ दलिया डाल दे.IMG_3569
  9. इसे सही से मिला कर प्रेशर कुकर का ढक्कन लगा दे. इसे तीन से चार सिटी आने तक पकाएं. प्रेशर कुकर को तुरंत ना खोलें इसकी  भाप जब निकल जाए तभी  खोलें.du4
  10.   गरमा गरम दलिया उपमा  परोसे और इस पर बारीक कटी हुई हरी धनिया, बारिक कद्दूकस किया हुआ नारियल और नींबू का रस डालें.

    how to make dalia upma
    Namkeen Daliya recipe
  11. आपको  यह  दलिया उपमा बहुत पसंद आएगा.

[/directions]

 

पाव भाजी रेसिपी | Pav Bhaji Recipe in Hindi

3
recipe of pav bhaji in hindi
पाव भाजी |Pav Bhaji
recipe of pav bhaji in hindi
पाव भाजी |Pav Bhaji

पावभाजी आसानी से बनने वाली स्वादिष्ट रेसिपी है, जिसमें गरमा गरम भाजी यानी सब्जी को बटर से roast किये पाव के साथ serve किया जाता है ।मुंबई पुणे मैं हर गली नुक्कड़ पर आपको पावभाजी के ठेले मिल जाते हैं ,पर गली नुक्कड़ पर मिलने वाले खाने में बहुत बार सफाई का ध्यान नहीं रखा जाता इसलिए मैं इसे घर पर ही बनाना पसंद करती हूं| पाव भाजी बनाने  में आसान झटपट बनने वाला पार्टी या snacks मेनू है |बहुत बार मैं पाव  भाजी खाने में बना लेती हूं जब मेरे पास टाइम भी कम होता और कुछ अच्छा भी बनाना है|

पाव भाजी रेसिपी | Pav Bhaji Recipe

पाव भाजी बनाने में एक ही महवत्पूर्ण काम है भाजी या सब्जी  बनाना । भाजी स्वादिष्ट रहेगी तभी पाव भाजी का मजा आएगा । पाव भाजी की भाजी सब्जियों का मिश्रण है, जिसमें मुख्य सब्जियां जैसे आलू, फूल गोबी / पत्ता गोभी, शिमला मिर्च, मटर, बीन्स डाली जा सकती है । अगर आप बच्चों के लिए बना रहे हो तो उन्हें पसंद न आनेवाली सब्जियां भी इसमें डाल कर उन्हें खिला सकते हैं , क्योंकि यह सब्जियां इतनी घुल मिल जाती है की उन्हें पता भी नहीं चलता की इसमें क्या डाला है |

[box] You Can Also Read Pav Bhaji Recipe  in English [/box]

सब्जियों को उबाल कर mash करके उन्हें प्याज टमाटर अदरक लहसुन के खुशबूदार मसाले में डाला जाता है । इस मसाले में पाव भाजी मसाला डाला जाता है जिससे उसे वह विशेष स्वाद मिलता है ।

कैसे बनाये पाव भाजी लाल और चटपटी । How to make Pav bhaji red and tasty !

पाव भाजी को लाल बनाने के लिए बोहोत से रेस्टोरेंट में गहरा लाल रंग डाला जाता है , पर घर पर बिना रंग डाले इसे एच सा लाल रंग और बेहतरीन स्वाद वाला बना सकते हैं । इस रेसिपी को परफेक्ट बनाने के लिए  मैंने अपनी कुछ टिप्स शेयर की है आप भी आपकी टिप्स मेरे साथ जरूर शेयर करे-

  • पाव भाजी बनाने के लिए कश्मीरी लाल मिर्च पाउडर का इस्तेमाल करे । में पाव भाजी बनाने के लिए एवेरेस्ट का कश्मीरीलाल(Everest Kashmirilal) इस्तेमाल करती हूँ ।
  • पाव भाजी के लिए गहरे लाल रंग के लंबे आकर वाले टमाटर का इस्तेमाल करे । इसमें देसी टमाटर न डाले । देसी टमाटर में रस ज्यादा होता है और pulp कम इस कारन भाजी या सब्जी खट्टी हो जाती  है और उसे चाहिए वैसा रंग भी नहीं आता ।
  • प्याज टमाटर का मसाले को तब तक भुने जब तक यह तेल न छोड़ने लगे |
  • लाल मिर्च पाउडर और पाव भाजी मसाले को डालने से थोड़े समय पहले थोड़े से पानी में भिगो कर इसकी पेस्ट बना ले और बाद में इसे  भुने हुए प्याज टमाटर में डालकर फिर से तेल अलग होने तक भुने ऐसा करने से भाजी या सब्जी का अच्छा सा लाल रंग आता है और ये स्वादिष्ट भी बनती है |
  • सब्जी में डालने वाले टमाटर को गैस पर भूनकर इसका छिलका हटाकर डाले इससे सब्जी लाल और स्वादिष्ट बनेगी ।

[box]Also Check – Dahi Vada Recipe in Hindi | How to make soft Dahi Vada in hindi [/box]

कैसे बनाये पाव भाजी हेल्थी | How to make pav bhaji healthy?

mumbai pav bhaji recipe
pav bhaji

हर  किसी  को अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना बोहोत जरुरी है , पर इसका मतलब ये बिलकुल नहीं है की हम हमें पसंद आने वाली चीज़ें न खाये । चटपटी चीज़ें खाने का मन हर किसी का होता है । अगर हम इन चटपटी स्वादिष्ट रेसिपीज को बनाते वक़्त थोड़ा ध्यान रखें तो हम इन्हें हेल्थी और low calories वाला बना सकते हैं |

पाव भाजी को हेल्थी बनाने की टिप्स मैंने शेयर की है आपको ये जरूर पसंद आएगी ।

  • पाव भाजी जो restaurant या roadside eateries में मिलती है उसमें तेल की मात्रा बोहोत अधिक होती है जिससे यह रेसिपी unhealthy  हो जाती है । पाव भाजी बनाते वक़्त  तेल  या बटर का प्रयोग कम करे | जरूरी नहीं है की बोहोत ज्यादा तेल बटर से पाव भाजी स्वादिष्ट लगती है , इसमें सही से मसाले डाले जाए और सही से भुने जाए तो ये बोहोत स्वादिष्ट बनती है |
  • पाव भाजी के साथ whole wheat bun या पाव serve करे अगर whole wheat बन न मिल रहा हो तो whole wheat bread या multi-grain bread के साथ इसे सर्वे करे ।
  • पाव भाजी लाल बनाने के लिए रंग का इस्तेमाल न करे , ऊपर दी गयी टिप्स से आपकी पाव भाजी वही लाल रंग वाली बनेगी|

मैंने पाव भाजी  बनाने की विधि क्रमशः फोटो के साथ (step by step photo) बताई  है । आपको यह रेसिपी  कैसी लगी या आप इसे कैसे बनाना पसंद करते है यह सारी बातें आप मुझे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स (comment box) में जरूर लिखिए |

[ingredients title=”पाव भाजी बनाने के लिए आवश्यक सामग्री | Ingredients Required to make Pav Bhaji at home”]

  • ४ मध्यम आकार के आलू (medium sized potatoes)
  • ४ मध्यम आकार के लाल टमाटर (medium sized tomatoes)
  • ३ मध्यम आकार प्याज बारीक कटा (onion finely chopped)
  • १/२ कप बारीक कटी शिमला मिर्च (green capsicum )
  • १ कप फूलगोभी (cauliflower) / 1 कप बारीक कटी पत्ता गोभी(cabbage)
  • १ कप ताजी हरी मटर (green peas)
  • १ इंच अदरक कसा (grated ginger)
  • १०-१२ लहसुन लौंग कसा (grated garlic)
  • ३ चम्मच कश्मीरी लाल मिर्च पाउडर (एवरेस्ट कश्मीरीलाल-Everest kashmirilal)
  • ३ चम्मच पाव भाजी मसाला पाउडर (एवरेस्ट पाव भाजी मसाला – Everest Pav Bhaji Masala)
  • २ चम्मच मक्खन / तेल (butter or oil)
  • नमक स्वाद अनुसार (salt to taste)

पाव भाजी की garnishing के लिए

  • आधा कप बारीक कटा धनिया
  • नींबू की फांक
  • बारीक कटा प्याज
  • आधा कप बारीक कटी शिमला मिर्च
  • मक्खन

[/ingredients]

[directions title=”Step By Step पाव भाजी बनाने की विधि हिंदी में | Step By Step Directions to make Pav bhaji at home”]

आलू के छिलके हटा कर उसे साफ़ धोकर ४ टुकड़ो में काट दें ।

आलू के टुकड़े , बीन्स , गोभी , मटर को साफ़ धोकर १ कप पानी और स्वादानुसार नमक  डालकर प्रेशर कुकर का ढ़क्कन बंद कर दें । इन सब्जियों को माध्यम गैस पर प्रेशर कुकर में पकने के लिए १०-१२ मिनट लगेंगे |IMG_8795

पकी हुई सब्जियों को कलछी या सब्जियां मैश करने वाले चम्मच से मसल लें ।IMG_8811IMG_8813

टमाटर के छिलका हटा लीजिये । में टमाटर को गैस पर भूनकर इसके छिलके हटा देती हूँ । टमाटर को बारीक काट लीजिये |टमाटर को इसतरह से भाजी में डालने से इसका स्वाद तो बढ़ता ही है साथ ही साथ पाव भाजी को बढ़िया लाल रंग देता है |blanching of tomatoesroasting tomatoesblanched tomato

कढ़ाई में तेल या बटर गरम करने रखें और उसमें बारीक़ कदुकस किया अदरक लहसुन डाल दें । अदरक लहसुन को ब्राउन नहीं होने देना है ।कई लोगों को बटर खाना मना होता है वे इस सब्जी को तेल में भी छोंक लगा सकतें है । रिफाइंड की जगह फिल्टर्ड तेल का इस्तेमाल करें , यह सेहत के लिए फायदेमंद होता है ।IMG_8796

अदरक लहसुन को हल्का सा ही भुने और उसमें बारीक़ कटी प्याज और १/२ टीस्पून नमक डालें नमक डालने से प्याज जल्द ही मुलायम हो जाएगी ।
प्याज को मुलायम होने तक भुने ।IMG_8797

अब इसमें बारीक कटा हुआ भुना हुआ टमाटर डालकर अच्छी तरह पकाएं आपको तब तक पकाना है जब तक यह तेल छोड़ने लगे.IMG_8798

उबले हुए आलू गोभी मटर को अच्छी तरह   स्मैश कर  ले.

एक छोटी कटोरी में लाल मिर्च पाउडर ,   पाव भाजी मसाला   और तीन-चार चम्मच पानी डालकर अच्छी तरह से मिला ले. इसकी पेस्ट बन जाएगी.IMG_8799IMG_8800IMG_8801IMG_8804
लाल मिर्च और पाव भाजी  मसाले  के इस पेस्ट को भुने हुए प्याज टमाटर   डाले. इसे अच्छी तरह मिला है और 1 से 2 मिनट के  लिए      पका लेIMG_8806
अब इसमें बारीक कटी हुई शिमला मिर्च डाल दे इसे एक से 2 मिनट पकने देंIMG_8808IMG_8810.
अब इसमें smash  किया हुआ आलू गोबी मटर आदि सब्जियों को डाल  दे, इसे मिलाकर  2-3 मिनट पकने दें.IMG_8815
अब इसमें पानी डालकर अच्छे से मिलाएं और पकने दें. पानी जरूरत के अनुसार इसमें डालें. नमक चेक कर ले और अगर कम लग रहा हो स्वाद अनुसार डाल दे.IMG_8818IMG_8822
पाव को बटर डालकर हल्का भून लें. बहुत लोग हल्की लाल मिर्च  बटर में डालकर  पाव को  भूनते हैं.  स्वाद अनुसार आप मिर्च डाल सकते हैं.
पाव भाजी को हल्का बटर डालकर बटर में भुने हुए पाव के साथ सर करें पाव भाजी पर बारीक कटी हुई प्याज   धनिया नींबू डालकर   परोसे.

recipe of pav bhaji in hindi
पाव भाजी |Pav Bhaji

 

 

[/directions]

 

 

Palak Dosa Recipe | Spinach Dosa Recipe for diabetics

5
Palak Dosa recipe
Palak Dosa | Spinach Dosa

palak dosa recipe for people suffering from diabetesYesterday, I went for a short trip to a calm and serene village. On my way back, I asked the farmer for 1 kg of Palak. This farmer was very generous. He packed almost 3 kgs of Palak. I wondered what I would do with so much palak. When I came back home, I gave some of it to my neighbor. Next day, I made Palak Paneer.My elder kid asked to make Spinach rice and I made that too. And still a lot of Palak was left in my refrigerator. After giving a 2 days’ break to green leafy veggies (:-)), I made this tasty Palak dosa for our breakfast. This recipe turned out so well that I had to share it with you all. It is a quick recipe with different types of flour that are available at home.

Palak Farm
Spinach Farm
The Generous Farmer
The Generous Farmer

Why this dosa recipe is good for diabetics and pre diabetics

This Palak Dosa is easy to make Diabetic recipe. Diabetics have always a problem with white rice due to its high glycemic index. I have made this Dosa by mixing different types of flour which have low glycemic index as compared to white rice. I have added barley flour , oats flour, ragi flour, coarsely ground whole wheat flour to make this recipe. All this flour have low glycemic index as compared to white rice or even brown rice. We can use any of this flours to make this recipe. pd10

Barley is an excellent food choice for those concerned about type 2 diabetes or pre-diabetes because the grain contains essential vitamins and minerals and is an excellent source of dietary fiber, particularly beta-glucan soluble fiber. Research shows that barley beta-glucan soluble fiber promotes healthy blood sugar by slowing glucose absorption. Multi-grain dosas are high in complex carbohydrates and proteins. Complex carbs are great for energy production and this can help in exercise and losing weight. They have low glycemic index i.e. they break down slowly and can provide energy for longer period of time. Palak dosa made from multi grain flour with goodness of Spinach makes it very healthy. Spinach is rich source of calcium, iron, vitamin A, vitamin C

[box]Also Check – Dosa recipe from leftover dosa batter[/box]

Palak Puree

I have cooked Palak (spinach) in microwave or pan to make Palak puree (spinach puree). When Palak is cooked, I immediately added cold water to it. This method gives nice green color to Palak puree. This puree can be used in Palak based gravies like corn Palak, Palak paneer, Palak puri and even in Palak rice or khichdi. In this dosa I am using the same Palak puree.

I have explained step by step method to make this easy Palak dosa / spinach dosa from both multi-grain flour. Do share your suggestion for this recipe.

[ingredients title=”Ingredients to make Palak Dosa | Spinach Dosa”]

  • 3 cups of mix flours (I have used oats flour, coarsely-ground whole wheat flour and barley flour)
  • 1 cup low fat curd
  • Water to make batter
  • Salt as required
  • 1/2 cup finely-chopped onion (optional)

Ingredients for Palak puree | Spinach puree

  • 250 gms Spinach leaves (Palak ke patte)
  • 2 green chilies (hari mirch)
  • 5-6 garlic cloves (lasan / lahsun)

[/ingredients]

[directions title=”Step By Step Method to Make Palak Dosa | Spinach Dosa”]

  1. You can cook Palak in microwave or by boiling it in pot or kadhai. Most of the times, I cook Palak in microwave when I want to make puree out of it. It is very quick and I get nice green Spinach puree.
  2. Wash the Spinach nicely and take it in microwave safe bowl with lid.pd4 (2)pd4.1
  3. Cook it for 3-4 minutes in microwave.
    pd5
  4. Add ice cold water to it.                                                                pd6pd7
  5. Take cooked Spinach leaves in grinder jar and add chilies and garlic cloves to it.pd8
  6. Make puree of cooked Spinach garlic and green chilies.pd9
  7. take all the flours in a bowl.                                      pd10
  8. Add Spinach puree and curd to it.                                pd12
  9. Add salt.                                                                                  pd13
  10. Mix it and add little water to make Dosa batter out of it.
  11. pd14
  12. I have also added finely chopped onion to it. pd15
  13. Heat non-stick or caste iron tawa (griddle) and grease it with a little oil. Sprinkle a little water on the tava and wipe it off gently with cloth or kitchen napkin.
  14. Pour a ladleful of batter at the center of tawa and spread it in a circular motion from the center towards the sides of the tawa. palak dosa from multi-grin flours
  15. Smear a little oil, ghee or butter over it. I have used gingelly oil (sesame seed oil/ til ka tel).
  16. Cook on high flames until it turns little brown.
  17. Flip and cook it on other side (as we are using multi-grain flour, we have to cook it properly).palak dosa recipe for people suffering from diabetes
  18. Serve it with peanut or coconut chutney.

[/directions]

Hope you enjoyed reading the recipe. Share your comments below and let me know what you think! 🙂

राजमा चावल रेसिपी । Rajma chawal recipe for diabetics

6
Rajma chawal for type 1 , type 2 and pre diabetic
Rajma Chawal

राजमा चावल बनाने में आसान,स्वादिष्ट और healthy खाना हैं| इसे बनाने में ज्यादा  time नहीं लगता और ये एक complete meal हैं | Vegetarian लोगों को proteins की requirement पूरी करने के लिए राजमा, चना, मटर, साबुत मूंग, मसूर दालें जैसी चीज़े अपने रोज के diet में इस्तेमाल करना बहोत जरूरी हैं| राजमा में proteins और iron की मात्रा बहोत ज्यादा हैं और चावल के साथ carbohydrates मिल जातें हैं | ये घर में सभी को पसंद आता हैं, चावल को soft पकाकर इसे tiffin में भी दिया जा सकता हैं| चावल soft होने के कारन ये जल्दी dry नहीं होता|

rc4

 

राजमा ( Rajma – Kidney beans)

राजमा (kidney beans) तीन तरह का मिलता हैं

लाल राजमा – ये राजमा dark लाल  रंग का होता  है। ये साइज में छोटा होता है इसलिए आसानी से जल्दी पक जाता है |

कश्मीरी राजमा- ये राजमा dark brown रंग का होता है | ये साइज में बड़ा होता है और इसे पकने में जादा टाइम लगता है |

चित्रा राजमा- ये राजमा इस रेसिपी में मेने use किया है ये skin कलर का राजमा होता है जिस पर brown रंग के धब्बे होते हैं |

राजमा चावल बनाने के लिए इनमें से कोई भी राजमा use कर सकते हैं | राजमा को सही से भिगोना बहोत जरूरी हैं| राजमा को १० – १२ घंटे भिगो कर उसका झाग पूरी तरह से हटा दे और उसे पूरी तरह soft होने तक पकने दें| राजमा अगर सही से न भीगा तो उससे गैस, heartburn और acid reflux जैसी समस्यांए होती हैं |

कैसे बनाए राजमा चावल हेल्थी ? (How can I make rajama chawal more healthy?)

अगर आपको डायबिटीज (diabetes) है तो आप राजमा की ग्रेवी को ब्राउन  राइस  या दलिया के साथ खा सकतें है | राजमा में भरपूर मात्रा में fibers हैं जो cholesterol को low करते हैं , और साथ ही साथ blood sugar level को बढ़ने से रोकते हैं |अगर राजमा चावल खाना होतो white राइस की जगह brown राइस या boiled brown राइस के साथ इसे एक हेल्थी डिश बना सकते हैं| राजमा gravy के साथ आप plain दलिया भी खा सकतें हैं |

 

IMG_4975
राजमा खाने के बहोत से benefits हैं पर इसे योग्य मात्रा में ही खाना चाहिए | ज्यादा मात्रा में खाने से indigestion और एसिडिटी होती हैं| राजमा चावल खाते वक़्त बहोत बार हम पसंद आता हैं तो जरूरत से ज्यादा खा लेते हैं पर कोशिश करे की इससे दो कटोरी से ज्यादा न खाये| इस रेसिपी में ग्रेवी (gravy) ज्यादा रखी हैं , जिससे राजमा जितना जरूरी हैं उतना ही खाया जाता हैं | राजमा की ग्रेवी कम से कम घी या बटर में बनाने के कारन इसे लो कैलोरी (low calorie) बना सकते हैं |

[box]Also check – Easy And Tasty Diabetic recipe for breakfast lunch and dinner[/box]

मैंने राजमा मसाला की यह रेसिपी जो आप चावल के साथ खायी जाती है वह क्रमशः फोटो द्वारा बतायी है |आपको यह रेसिपी कैसी लगी या आप इसे कैसे बनाना पसंद करते है यह सारी बातें आप मुझे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स (comment box) में जरूर लिखिए |
[ingredients title=”राजमा चावल बनाने की सामग्री (Ingredients to make Rajma recipe )”]

  • १ १/२ कटोरी राजमा(rajma / kidney beans)
  • २ प्याज़ (onion)
  • २ टमाटर (tomato)
  • २ टेबलस्पून अदरक लहसून की पेस्ट (ginger garlic paste)
  • ३-४ तेज पत्ता (bay leaf)
  • 3 टीस्पून गरम मसाला पाउडर (garam masala)
  • १ टीस्पून हल्दी पाउडर (turmeric powder)
  • १ टीस्पून आमचूर पाउडर (dry mango powder)
  • १ टेबलस्पून लाल मिर्च पाउडर (red chili powder)
  • 2 कप पानी राजमा पकाने के लिए
  • २ कप पानी ग्रेवी के लिए
  • नमक स्वादानुसार

[/ingredients]

[directions title=”राजमा बनाने की विधि | Rajma banane ki vidhi”]

  1. राजमा को धो कर साफ़ पानी में १०–१२ घंटे पहले भिगो दीजिये|
  2. भीगे हुए राजमा को अच्छी तरह धोकर कुकर में डालें, इसमें २-३ कप पानी डालकर इसे उबलने रख दीजिये | जब इसमें उबाल आ जाये तो इसका झाग चम्मच से निकाल कर फेंक दीजिये | ये झाग हटना बोहोत जरूरी हैं क्योंकि इससे indigestion और acidity होती हैं |
  3. अब इसमें १ चम्मच नमक और १-१ १/२ चम्मच गरम मसाला डालकर कुकर ka ढक्कन बंद कर दें | में पहले खड़े मसालें कपडे में बांधकर इसमें डालती थी पर इस तरह गरम मसाला डालने पर हर राजमा के दाने में मसालें का स्वाद बड़ा अच्छा आता है |
  4. २-३ सीटी आने के बाद गैस को धीमा कर दें और धीमी गैस पर ७-८ मिनट तक राजमा पकने दें | गैस बंद कर दें |
  5. राजमा का मसाला कई तरह से बनाया जाता है पर मेने इस बार इसे थोड़ी अलग तरह से बनाया है ,इस मेथड से मेरी ग्रेवी thick होने के साथ साथ प्याज और टमाटर एक साथ सॉफ्ट होकर पक गए |मेने प्याज टमाटर के pieces १ कप पानी और नमक डाल कर पका लिए , नमक डालने के कारन प्याज और टमाटर बहोत जल्दी पक्कर soft हो गए | मेने इसे तपेले में ही उबाल कर पका लिया है| जब राजमा पक रहा हो तभी इस टमाटर प्याज को दूसरी गैस burner पर उबालने रख दीजियेrc6
  6. इस soft पके टमाटर और प्याज की hand blender या mixer में puree बना लीजिए |rc7
  7. कढ़ाई में मक्खन या घी गरम कर उसमें तेज पत्ता और अदरक लहसुन की paste डाल दें |rc5
  8. अब इसमें पके हुए प्याज टमाटर की puree डाल दे |rc8
  9. इसमें लाल मिर्च , हल्दी , धनिया powder, १ चम्मच गरम मसाला डालकर अच्छी तरह से मिला लें |rc9
  10. इसे ढक्कन लगाकर ६-७ मिनट तेज गैस पर पकने दें , बीच बीच में इसे चलते रहे | ढक्कन ढकना जरूरी हैं क्योंकि उबलते वक़्त गैस स्टोव पर काफी छीटे उड़ती है ,जिसे बाद में साफ़ करना बड़ी परेशानी का काम है !rc10
  11. राजमा का ये मसाला अब सही से पक चुका है, अब इसमें कसूरी मेथी डाल कर १-२ मिनट इसे और चलाये |rc12
  12. आप अगर खट्टा खाना पसंद करते के तो इसमें आमचूर डालें |rc13
  13. अब इस मसालें में soft पका हुआ राजमा डालकर इसे चलाये , आवश्यकता के अनुसार इसमें पानी डाल कर इसे धीमी gas पर उबलने दे |rc17
  14. स्वाद जांच लें अगर नमक कम लग रहा हो तो इसमें नमक डालें , राजमा उबलते वक़्त और प्याज टमाटर की प्यूरी में पहले से नमक डला हैं , इसलिए बिना स्वाद लिए नमक न डालें|rc16
  15. इसमें हरा धनिया डालकर brown राइस   या plain दलिया  के साथ serve करें |rc18

[/directions]

उपमा रेसिपी | Upma Recipe in Hindi

3
upma in hindi |उपमा रेसिपी हिंदी में
उपमा रेसिपी| Upma recipe
upma in hindi |उपमा रेसिपी हिंदी में
उपमा रेसिपी

[box]You can also read Upma recipe in english[/box]

उपमा सुबह के समय बड़े आसानी से बनने वाला healthy नाश्ता  है । उपमा, पोहा, पराठा, oats , और दलिया इन सबकी न तैयारी में और ना बनाने  में ज्यादा समय नहीं लगता हैं ।उपमा एक south indian recipe है जो कई तरह से बनाई जा सकती है | में उपमा oats , ब्रेड , दलिया , सूजी या चावल के रवा का बनाती हूँ । यह Upma रेसिपी सूजी या गेहूँ के बने रवा की है ।

[box]Also Check –पोहा रेसिपी | Poha Recipe in Hindi | पोहा बनाने की विधि हिंदी में[/box]

उपमा रेसिपी |Upma Recipe

सूजी का उपमा कई तरह से बना सकते हैं । इसे आप सब्जियों के साथ बिना सब्जियों के साथ या बिना प्याज के साथ भी बना सकते हैं | मुझे याद है जब मे hostel में थी मेरी mom ने मुझे Instant Upma  ka mixture बना कर दिया था । मुहे बोहोत बार mess का खाना पसंद नहीं आता था तब हम ये उपमा , पोहा या खिचड़ी बनाते थे |

सूजी का यह उपमा बनाने के लिए मोटी सूजी का का मैंने इस्तेमाल किया है । बाजार में मोटी और पतली दोनों  तरह की सूजी मिलती है । सूजी का उपमा बनाने के लिए मोटी सूजी का इस्तेमाल करने से  उपमा खिला खिला सा बनता है , पतली सूजी का इस्तेमाल में रवा  डोसा , चीला या लड्डू बनाने के लिए करती हूँ ।

कैसे बनाएँ उपमा हेल्थी और परफेक्ट । How to make upma nutritious and healthy

upma in hindi |उपमा रेसिपी हिंदी में
उपमा
  • उपमा बनाते वक़्त सूजी को भुनना सबसे मुख्य काम है । सूजी को तब तक भुने जब तक यह हलकी और हलके बादामी रंग की न हो जाये । सूजी भूनते – भूनते पाक जयति है और इसमें आद्रता(moisture) नहीं रहती , इस वजह से उपमा खिला खिला सा बनता है । अगर सूजी सही से न भुनी जाये तो यह चिप छिपा सा बनता है ।
  • उपमा के लिए सूजी भूनते वक़्त १ – १/२ चम्मच तेल जरूर डाले , इससे उपमा खिला खिला सा बनता है ।
  • उबलते पानी में सूजी डालते वक़्त या तो गैस धीमी करें या बंद कर दे नहीं तो हातों को बोहोत तेज भाप लगती हैं और साथ ही साथ गाठें होने लगती है ।
  • पारंपरिक उपमा रेसिपी में filtered तिल के तेल का इस्तेमाल होता है । तिल के तेल के कारन उपमा का स्वाद तो बढ़ता ही है पर साथ ही साथ यह तेल सेहत के लिए अच्छा भी है । आप इसमें चाहे तो मूंगफल्ली का filtered oil भी इस्तेमाल कर सकतें हैं । रिफाइंड तेल का इस्तेमाल कम से कम रहे तो अच्छा है |
  • उपमा में सब्जियां जैसे मटर , गाजर , बीन्स,लाल पिली हरी  शिमला मिर्च ,कैबेज या इनमें से जो भी सब्जियां घर में हैं वह जरूर डालें । सब्जियां डालने से इसकी nutritional value बढ़ जाती है , और सुबह के समय यह एक healthy breakfast बनता है |
  • उपमा में तली हुई मूंगफल्ली और काजू डाले जाते हैं , ऐसा करने से इस रेसिपी की कैलोरीज तो भड़ती ही है पर साथ साथ काजू और मूंगफल्ली के पोस्टिक तत्व भी ख़तम हो जाते हैं । उपमा में भुनी हु मूंगफल्ली या काजू का इस्तेमाल करें । आप इसे माइक्रोवेव(microwave) में भून सकते हैं , अगर आप माइक्रोवेव(microwave) का इस्तेमाल नहीं करते तो नॉन स्टिक पैन(non-stick pan) में भी इसे भुना जा सकता है |

[box]Also Check – Healthy breakfast Recipes[/box]

Calories in Upma

  1. Servings: 
Calories

248

Sodium

391 mg

Total Fat

4 g

Potassium

0 mg

Saturated

1 g

Total Carbs

45 g

Polyunsaturated

0 g

Dietary Fiber

3 g

Monounsaturated

0 g

Sugars

2 g

Trans

0 g

Protein

8 g

Cholesterol

0 mg

 
Vitamin A

5%

Calcium

2%

Vitamin C

9%

Iron

14%

*Percent Daily Values are based on a 2000 calorie diet. Your daily values may be higher or lower depending on your calorie needs.

Source – myfitnesspal.com

मैंने उपमा बनाने की विधि क्रमशः फोटो के साथ (step by step photo) बताई  है । आपको यह रेसिपी  कैसी लगी या आप इसे कैसे बनाना पसंद करते है यह सारी बातें आप मुझे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स (comment box) में जरूर लिखिए |

[ingredients title=”उपमा बनाने के लिए आवश्यक सामग्री |Ingredients required to make Upma “]

  • २ कप सूजी (रवा / semolina)
  • १- १ १/२ कप बारीक़ कटी सब्जियां (जैसे बीन्स , गाजर, लाल पिली या हरी शिमला मिर्च,मटर , पत्ता गोभी आदि  )
  • २  बारीक़ कटी प्याज
  • ३-४ बारीक़ कटी हरी मिर्च (स्वादानुसार )
  • १५-२० भुनी हुई मूंगफल्ली या काजू के टुकड़े
  • ५ १/२ – ६ कप पानी (सूजी अगर बोहोत ज्यादा मोटी है तो पानी ज्यादा लगता है अगर पतली है तो पानी कम  लगता है।  मैंने इस रेसिपी में ६ कप पानी डाला है |)
  • २ टेबलस्पून फिल्टर्ड तिल का तेल (gingelly oil ) ,या मूंगफली का तेल (peanut oil ) या कोई भी रिफाइंड या फिल्टर्ड तेल
  • १ टीस्पून राइ या सरसो
  • १ टीस्पून जीरा
  • १ टेबलस्पून उरद दाल
  • १ टेबलस्पून चना दाल
  • १५-२० करी पत्ता
  • २ चम्मच निम्बू का रस
  • धनिया पत्ता
  • कसा हुआ नारियल
  • २ टीस्पून चीनी
  • १ टीस्पून नमक (स्वादानुसार)

[/ingredients]

[directions title=”उपमा बनाने की विधि । Step by Step Directions to make Upma in Hindi”]

  1. १ टीस्पून तेल कढ़ाई में गरम करें और इसमें सूजी डालकर इसे तब तक भुने जब तक सूजी हलकी और बादामी रंग की नहीं हो जाए । तेज गैस पर सूजी न भुने , इसे माध्यम और धीमी गैस पर ही भुने| अब इसे तपेले में निकाल कर रख दीजिये |u3
  2. उसी कढ़ाई में २ टेबलस्पून तेल गरम करने रखिये ।
  3. दूसरी गैस पर उपमा में डालने के लिए ६ कप पानी गरम करने रखें , इससे उपमा जल्दी बनेगा |u13
  4. जैसे ही तेल गरम हो जाए उसमें उडद दाल और चना दाल डालें|u8
  5. जैसे ही डालें हलकी सुनहरी हो जाए इसमें राइ या सरसो डालें और जैसे ही ये कड़कने लगे इसमें जीरा डालेंu9
  6. अब इसमें हरी मिर्च और करि-पत्ता डालें और उसे करारा होने दे ।u10
  7. अब इसमें बारीक़ कटी प्याज और नमक डालें , नमक डालने से प्याज जल्दी मुलायम होकर पाक ज्याता है ।u12
  8. अब इसमें बारीक़ कटी सब्जियां डाल और तेज आंच पर इसमें १-२ मिनट तक पकाये , चम्मच से इसे हिलाते रहे ।u14
  9. अब गैस धीमी कर इसे २-३ मिनट के लिए ढाक दें । सब्जियां पक जायेगी |u16 (2)
  10. इसमें भुनी हुई मूंगफली या काजू डाल दें । इसे आखरी में भी डाला जा सकता है |u17
  11. अब इसमें उबलता हुआ गरम पानी डालें और गैस धीमी करें या बंद कर दे ।u18
  12. अब धीरे- धीरे इसमें सूजी डालें और चम्मच से चलाते रहे जिससे इसमें गाठें न हो । सूजी डालते वक़्त या तो गैस धीमी करें या बंद कर दे नहीं तो हातों को बोहोत तेज भाप लगती हैं और साथ ही साथ गाठें होने लगती है । जब सारी सूजी सही से पानी में मिल जाए तब इस कढ़ाई को फिर से धीमी गैस पर रखें|u20
  13. अब इसमें निम्बू का रस डालें , निम्बू का रस  डालने से उपमा स्वादिष्ट और खिला खिला सा बनता है ।u21
  14. इसमें चीनी डालें और सही से मिलाकर ३-४ मिनट तक ढाक कर धीमी गैस पर पकने दें|u22
  15. गरमा गरमा उपमा तैयार है , इसे हरी धनिया के पत्ते और बारीक़ कसे हुए नारियल से सजा कर निम्बू या  अचार के साथ serve करें |

    upma in hindi |उपमा रेसिपी हिंदी में
    उपमा रेसिपी

[/directions]

 

दही वडा रेसिपी | दही वडा बनाने की विधि हिंदी में | Dahi vada Recipe in hindi

2
dahi bada recipe in hindi
दही वडा |Dahi Vada
how to make dahi vada in hindi
दही वडा

दही वडा(dahi vada) खाने का मजा  तभी आता है जब ये soft , spungy और चटपटा हो । मुझे चाट बनाना और खाना दोनों ही पसंद है और दही वडा मेरी सबसे पसंदीदा चाट में से एक हैं । दिल्ली और लगभग पुरे उत्तर भारत में हर शादी में, किटी पार्टी में, लंच या डिनर में यह मेनू होता ही है| दही वडा बनाने का हर किसी का अपना नुस्खा (secret recipe!) होता है । दही वडा में आप चाहें जो मसाले चटनी डालो, चाहें जितना चटपटा दही डालो पर अगर ये अंदर से कड़क रह जाए तो इसका सारा मजा ख़राब हो जाता है । मैंने इस रेसिपी में कुछ टिप्स (tips) शेयर की है जिससे दही वडा सॉफ्ट बनेगा| आप भी आपकी टिप्स नीचे दिए गए comment बॉक्स में जरूर share करे |

[box] Also check – Whole Wheat flour Bhatura recipe[/box]

दही वडा रेसिपी | Dahi Vada Recipe

जिस दिन दही वडा बनाना हो उसके पहले दिन थोड़ी तैयारी कर लो तो काम आसान हो ज्याता है जैसे दही वडा  की चटनियाँ बनाना दही सेट कर देना | दही वडा का वडा उरद दाल से बनता है पर इसमें मूंग की दाल डालने से ये और सॉफ्ट(soft) बनता है |

[box]Read Dahi Vada recipe in English[/box]

दही वडा बनाने के लिए ७ मुख्य तैयारियां | 7 Preperations to make Dahi Vada

  • दाल भिगोना
  • दही सेट करना
  • चटनियाँ बनाना – सौंठ की चटनी , हरी चटनी आदि
  • मसाले (दही वडा को तीखा और चटपटा बनाने के लिए )
  • वडा भिगोने वाला पानी बनाना
  • वडा बनाना
  • और आखरी में प्लेट सजाकर खाना 🙂
dahi bada recipe in hindi
दही वडा

ही वडा Soft and Spongy बनाने की टिप्स |Tips for how to make perfectly soft and Spongy Dahi vada

  • उडद दाल और मूंग दाल २:१ के अनुपात में भिगाये । अगर २ कप उडद दाल लो तो उसमें १ कप मूंग दाल मिलाकर इसे साथ में भिगाये । ऐसे बना वडा अंदर तक सॉफ्ट रहता है
  • कम से कम 5-6 घंटे के लिए दाल को साफ़ पानी में भिगोये । दाल को गरम पानी में नहीं भिगोये नहीं तो वडा सही नहीं बनेगा ।
  • दही बड़ा के लिए उड़द की दाल पीसने के बाद यह तलने से पहले 4-5 घंटे के लिए अलग रख दें। इससे ये पिसी दाल फरमेंट(ferment) होकर हलकी हो जाएगी और इसे ज्यादा फेटने की जरूरत नहीं रहेगी । वड़ा बनाने  वाली पिसी दाल के मिश्रण को काफी फेटा ज्याता है ताकि वह हल्का हो जाए , पर अगर आप इस मिश्रण को ४-५ घंटे के लिए रख देते है तो यह दाल एकदम हलकी (air get trap inside the mixture) हो जाती है ।
  • अगर दाल के इस मिश्रण को ४-५ घंटे तक रखने का टाइम न हो तो इसे चम्मच या ब्लेंडर से काफी समय तक फेटिये । एक कटोरी पानी में आधा चम्मच पिसी हुई दाल को डालकर देखिये , अगर दाल ऊपर तैरती है इसका मतला ये वडा बनाने के लिए तैयार है |
  • गरम  तेल में तेज आंच पर वडा तलने के लिए डाले और जैसे ही यह अपना आकर ले लेता है गैस धीमी कर इसे धीमी आंच पर तब तक तले जब तक यह सुनहरे रंग का हो जाए और तेल से झाग आना बिलकुल बंद हो जाए |
  • वडा भिगोने वाला पानी पहले ही गरम करके तैयार रखें, यह पानी में नमक , हींग डालकर रख दे । हींग डालना ऑप्शनल है , इससे यह सुपाच्य हो जाता है ।
  • वडा तलते ही तुरंत उसे भिगोने वाले गरम पानी (warm water not boiling water) में डालकर तब तक भिगोये रखे जब तक दूसरा वडा तल कर  नहीं निकलता । फिर भीगा हुआ वडा हलके हात से निचोड़ ले और उसी पानी को दुबारा वडा भिगाने के लिए इस्तेमाल करे ।
  • अगर आपको दही वडा तुरंत नहीं serve करना है तो थोड़ा दही में पानी मिलाकर पतला  कर दें aur वड़ों को दही में भिगाकर रख दें , परोसने के समय ऊपर से गाढ़ा दही (thick curd)और बाकी सारी चटनियाँ और मसाला डालकर दही बडे serve करें ।

मैंने दही वडा बनाने की विधि क्रमशः फोटो के साथ (step by step photo) बताई  है ।आपको यह रेसिपी  कैसी लगी या आप इसे कैसे बनाना पसंद करते है यह सारी बातें आप मुझे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स (comment box) में जरूर लिखिए |

[ingredients title=”दही वडा बनाने के लिए आवश्यक सामग्री | Ingredients required to make Dahi vada”]

वड़ा बनाने के लिए सामग्री| Ingredients to make vada

  • १ कप उड़द की दाल(उडद धूलि) (urad dal)
  • १/२ मूंग की दाल (मूंग धूलि) (moong dal)
  • २ हरी मिर्च (green chillies)
  • 1 इंच अदरक, यह छोटे टुकड़ों में काट लें (ginger)
  • 1 चम्मच नमक (salt)
  • वड़ा तलने के लिए रिफाइंड तेल (oil for frying)

दही वड़ा भिगोने के लिए पानी लिए सामग्री (Ingredients for making water to soak dahi vada )

  • ४ कप पानी + 1 चम्मच नींबू का रस + १ चुटकी हींग +१ चम्मच नमक

[box]Also Check –How to Make curd in winter[/box]

दही वड़ा के लिए दही बनाने के लिए सामग्री |Ingredients for making curd for Dahi Vada

  • ४ कप ताजा दही (cup fresh curd)
  • ४ चम्मच चीनी / 1 चम्मच sugar free natura ( teaspoon sugar / 1 teaspoon sugar free natura)
  • १ चम्मच नमक (salt)

दही वड़ा के लिए हरी धनिया की चटनी बनाने की सामग्री |Ingredients for making green coriander chutney for Dahi Vada

  • १/२ कप हरा धनिया( green coriander)
  • १ हरी मिर्च (green chilly)
  • नमक स्वाद अनुसार (Salt to taste)

दही वड़ा के लिए इमली की चटनी या सौंठ की चटनी की सामग्री |Ingredients for making tamarind (imli / chinch) chutney /saunth ki chutney for Dahi vada

  • १/२ कप बिना बीज वाली इमली (1/2 cup seedless tamarind)
  • ५-6 बिना बीज वाले खजूर (5- 6 seedless dates)
  • १ चम्मच चाट मसाला (chat masala)
  • 1/2 चम्मच सोंठ की पाउडर (dry ginger powder)
  • २ बड़े चम्मच गुड़ (jaggery) कसा हुआ या अपने स्वादनुसार
  • २ + 1 कप पानी इमली भिगोने और चटनी बनाने के लिए
  • नमक स्वादानुसार

दही वडा का मसाला बनाने की सामग्री  । Ingredients for making masala for sprinkling on Dahi Vada

  • चाट मसाला (Chat masala)
  • कश्मीरी लाल मिर्च पाउडर (Kashmiri Red chili powder)

[/ingredients]

[directions title=”दही वडा बनाने की विधि |Step by Step Directions to make Dahi vada (wada) at home”]

उड़द और मूंग की दालअच्छी तरह साफ़ पानी से धो लें और 5-6 घंटे के लिए स्वच्छ पानी में भिगो दें।IMG_8874

मिक्सर के जार में भीगी हुई दाल , हरी मिर्च , अदरक और नमक डालिये |IMG_8877

इसे थोड़ा पानी डालकर पीस लें , दाल का भिगाया हुआ पानी ही पीसने के लिए इस्तेमाल करें । पानी काम से काम डालें नहीं तो मिश्रण पतला होगा और तलाई के समय बोहोत तेल सोखेगा |IMG_8878

४-५ घंटे के लिए इस दाल के मिश्रण को अलग रख दीजिये, इससे मिश्रण में हवा के बुलबुले fermentation की वजह से आ जायेंगे और वडा सॉफ्ट बनेगा । अगर आपके पास इतना टाइम नहीं है तो इस मिश्रण को खुप फेटे जब तक यह हल्का न हो जाए , इसे लगभग १०- १५ मिनट तक फेटे , इसके लिए आप हैण्ड ब्लेंडर का इस्तेमाल कर सकते हैं । पर आप इस घोल को ४-५ घंटे रख देंगे तो ये अपने आप ही हल्का होगा और वडा सॉफ्ट बनेगा |IMG_8880

दही को एक बर्तन में ले उसमें चीनी और नमक डालकर मथनी से बिलोना है |IMG_8889

हरी  चटनी के लिए हरी धनिया और मिर्च को अच्छे तरह से धो लीजिये इसमें नमक और पानी डालकर इसे पीस लीजिये ।IMG_8899

इमली की चटनी या सौंठ की चटनी बनाने के लिए इमली और खजूर को साफ़ पानी से धो लीजिये और इसे २ कप गरम पानी में १/२ घंटे के लिए भिगो दीजिये । १/२ घंटे बाद ये एकदम मुलायम हो जायेगा , इसे मिक्सर में पीस लीजिये और छानकर इसके रेशे अलग कर दीजिये । इस छाने हुए मिश्रण में गुड़, सौंठ पाउडर , नमक और ३/४ कप पानी हाल कर इसे उबालने के लिए रखे । इसे तब तक उबालें जब तक यह हल्का गाढ़ा न हो जाए ।IMG_8898

 

४ कप पानी + 1 चम्मच नींबू का रस + १ चुटकी हींग +१ चम्मच नमक को उबालने के लिए रखिये| उबाल आते ही बंद कर दे ।IMG_8890

कढ़ाई में तेल गरम करने रखिये । वडा के मिश्रण को चम्मच से अच्छे से फेट लें  , तेल गरम होते ही चम्मच की सहायता से एक बार में जितने वड़े तेल में आसानी से आ सकते हैं डाल दीजिए।IMG_8892

वडा तेल में डालते वक्त आंच तह रखें , जैसे ही वडा अपना आकर सही से ले लेता है गैस की लौ मध्यम कर दे , जब वडा हल्का सुनहरे रंग का होने लगे आंच धीमी कर इसे पलट पलट का तब तक तले जब तक वह सुनहरे रंग का न हो जाए |IMG_8893

वडा को तेल से निकाले और तैयार किए हुए गरम पानी में डाल दीजिये । उसे तब तक भिगो कर रखें जब तक दूसरे तले हुए वड़े तेल से नहीं निकालते |IMG_8894

जैसे ही अगले वड़े तलकर तैयार हो जाए ,पहले वाले वडा जो पानी में भीग रहे हैं उसे चम्मच की सहयाता से बहार निकाल ले और तले हुए वडा को उसी पानी में डालें | अभी इन वडा को न निचोड़े , इन्हें तब निचोड़े जब प्लेट में serve करने हैं । इस वजह से वडा सॉफ्ट (soft) रहता है नै तो dry हो ज्याता है |IMG_8896

और अब मेरा सबसे पसंदीदा काम आता है — दही वडा की प्लेट बनाना । इस काम के लिए साड़ी तैयार की गयी चीज़ों को एक साथ रखें |IMG_8897

२ बड़े चम्मच दही को serve करने वाली प्लेट या बाउल में डाले । IMG_8901

अब इसमें थोड़ी इमली की चटनी / सौंठ की चटनी  डालें |IMG_8902

हथेली के बीच में एक एक वडा को दबाकर हलके से निचोड़े जिससे पानी निकल जाए । और इन वडा को सर्वे करने वाली प्लेट या बाउल में रखें |IMG_8903

तैयार किया हुआ दही इन वडा  पर डालें |IMG_8904

इस पर थोड़ी हरी चटनी और इमली की चटनी डालें |IMG_8905

इस पर स्वादानुसार चाट मसाला और कश्मीरी लाल मिर्च की पाउडर छिड़कें । इसमें और कोई भी चीज़े डालने की जरूरत नहीं क्योंकि चाट मसाले में पहले से ही काफी सारे मसाले होते हैं और इससे दही वडा चटपटा बनाता है । IMG_8909

[/directions]

 

Nutrition Facts

Home Made – Dahi Vada – Daal Vada and Curd With Spices and Chutneys

  1.  
    1 pieces
    1 container (12 pieces ea.)
Calories 131 Sodium 82 mg
Total Fat 0 g Potassium — mg
Saturated 0 g Total Carbs 22 g
Polyunsaturated 0 g Dietary Fiber 12 g
Monounsaturated 0 g Sugars 2 g
Trans 0 g Protein 11 g
Cholesterol 0 mg
Vitamin A 2% Calcium 2%
Vitamin C 4% Iron 19%

*Percent Daily Values are based on a 2000 calorie diet. Your daily values may be higher or lower depending on your calorie needs.

source-Myfitnesspal

 

 

पोहा रेसिपी | Poha Recipe in Hindi | पोहा बनाने की विधि हिंदी में

4
poha banaane ki vidhi hindi mein
पोहा रेसिपी | Poha recipe in hindi | poha banaane ki vidhi hindi mein
poha recipe hindi mein
पोहा रेसिपी

पोहा एक हल्का-फुल्का हेल्थी नाश्ता है जो बड़ी आसानी से कम समय में बन जाता है । मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र में सुबह के समय रोड साइड eateries में गरमा-गरम पोहा बड़ी आसानी से मिल जाता है | यहां अगर घर पर कोई मेहमान आतें  है तो कईबार नाश्ते में पोहा और जलेबी या शीरा (हलवा) दिया  जाता है ।

[box]Also Check- Healthy Paratha recipes [/box]

पोहा रेसिपी ( Poha Recipe)

पोहा कई तरह से बनाया जाता है और उस तरह से उसके नाम भी पड़े हैं । जैसे आलू पोहा(aalu poha) , कांदा पोहा (kanda poha), वेजिटेबल पोहा (vegetable poha), या बिना प्याज के प्लैन पोहा(plain poha) । आप इसे चाहें जैसे बन सकते हैं । मैंने इस रेसिपी में पोहा प्याज और थोड़ी सब्जियों के साथ बनाया है ।

पोहा बनाने के लिए आप बोहोत पतला या बोहोत मोटा पोहा न लें । पोहा मार्किट में ३-४ तरह (variety of poha)का मिलता है

मोटा पोहा (Thick poha) –

यह पोहा सफ़ेद और ब्राउन दोनों तरह का बाजार में मिलता हैं ।यह पोहा काफी मोटा है और इसे भीगने में काफी समय लगता है । में इसे पोहा का चिवड़ा या इडली के batter बनाने में इस्तेमाल करती हूँ ।

[box]Also Check- उपमा बनाने की विधि हिंदी में  |How to Make Upma in Hindi [/box]

मध्यम मोटाई वाला पोहा (Medium thick poha)-

में पोहा बनाने के लिए इसी पोहे का इस्तेमाल करती हूँ । मोठे पोहे की तरह ये पोहा भी बाजार में ब्राउन और सफ़ेद दोनों  तरह का मिलता है । ब्राउन राइस की तरह ब्राउन पोहा भी हाई फाइबर होता है |

पतला पोहा (Thin poha) –

यह पोहा चिवड़ा बनाने के लिए ठीक होता है । इसे अगर धोए तो ये पूरी तरह गल जाता है और इसकी गुठलियां तैयार हो जाती है | पोहे की इस रेसिपी में ये पोहा भी इस्तेमाल नहीं होगा|

पोहा
पोहा

 

कैसे बनाये पोहा हेल्थी (How to make Poha Healthy)

पोहा की इस रेसिपी को आप काफी सारी चीज़ें डालकर एक हेल्थी और संपूर्ण ब्रेकफास्ट (complete breakfast) बना सकते हैं ।

  • पोहा में कई तरह की सब्जियां डाली जा सकती हैं जैसे गाजर, उबला आलू , पत्ता गोभी, मटर , टमाटर , लाल पिली शिमला मिर्च । आप चाहें तो इसमें बारीक़ कद्दूकस किया आंवला भी डाल सकते हैं ।आंवले से इसे हल्का खट्टा  स्वाद मिलता है । जो आंवला  कच्चा खाना थोड़ा मुश्किल काम है  वो आप इसमें आसानी से डालकर खा सकते है ।
  • पोहा में बोहोत लोग तली हुई  मूंगफली डालते है , यह न डालकर आप इसमें भुनी मूंगफली डालें ।
  • पोहा में सब्जियों के अलावा पनीर या टोफू के छोटे- छोटे टुकड़े भी डाले जा सकते हैं ।
  • ब्राउन पोहा सफ़ेद पोहा के मुकाबले काफी ही फाइबर और विटामिन्स से भरपूर होता है । डायबिटीज के लोगों के लिए ये पोहा अच्छा  होता है  क्योंकि इसका glycemic index सफ़ेद पोहा के मुकाबले कम होता  है |
  • पोहा बनाते वक़्त रिफाइंड तेल का इस्तेमाल न करके फिल्टर्ड तेल का इस्तेमाल करें । खाने में रिफाइंड तेल का इस्तेमाल  कम से कम करें । फिल्टर्ड तेल सेहत के लिए अच्छा होता है (filtered oil vs refined oil) ।

Calories in Vegetable Poha|वेजिटेबल पोहा कैलोरी

  1.  
    1 grams
    1 ounce
Calories 185 Sodium 0 mg
Total Fat 2 g Potassium 0 mg
Saturated 0 g Total Carbs 38 g
Polyunsaturated 0 g Dietary Fiber 11 g
Monounsaturated 0 g Sugars 0 g
Trans 0 g Protein 10 g
Cholesterol 0 mg
Vitamin A 0% Calcium 0%
Vitamin C 0% Iron 0%

*Percent Daily Values are based on a 2000 calorie diet. Your daily values may be higher or lower depending on your calorie needs.

Source- myfitnesspal

मैंने पोहा बनाने की विधि क्रमशः फोटो के साथ (step by step photo) बताई  है । इस विधि से ब्राउन (brown)और वाइट(white) दोनों पोहा बनाया जा सकता है । आपको यह रेसिपी  कैसी लगी या आप इसे कैसे बनाना पसंद करते है यह सारी बातें आप मुझे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स (comment box) में जरूर लिखिए |

[ingredients title=”पोहा बनाने के लिए आवश्यक सामग्री | Ingredients required to make Poha “]

  • ३ कप मध्यम मोटाई वाला पोहा  (medium size poha)
  • २ बारीक़ कटी प्याज (finely chopped onion)
  • १ बारीक कटी शिमला मिर्च और १/२ कप मटर  ( लगभग एक कटोरी कोई भी कटी सब्जी जो पोहा में  डालनी हो जैसे गाजर , शिमला मिर्च,फ्रेंच बीन्स,मटर आदि  ) (any finely chopped vegetables like carrot, bell pepper, green peas , french beans etc)
  • १५-२० भुनी मूंगफली के दाने (roasted peanuts)
  • २-३ हरी मिर्च  बारीक़ कटी या बड़े टुकड़े (green chilies)
  • १ टीस्पून राई (mustard seeds)
  • १ टीस्पून जीरा (cumin seeds)
  • १ टीस्पून हल्दी पाउडर (turmeric powder)
  • १५-२० करीपत्ता (curry leaves)
  • २ टेबलस्पून तेल (oil)
  • २ टीस्पून चीनी(sugar)
  • १ टीस्पून नमक या स्वादानुसार

[/ingredients]

[directions title=”पोहा बनाने की विधि  | Step By Step Directions to Make Poha in hindi”]

  1. पोहा साफ़ है या नहीं देख लीजिए , अगर कुछ धान के छिलके दिख रहे हो तो उसे निकाल दीजिये ।p10
  2. पोहा को साफ़ पानी से ३ -४ बार धो लीजिए । धोते वक़्त ही  ये काफी पानी सोख लेगा| अब इसे छलनी में ४-५ मिनट के लिए रख दीजिये । मैंने मोटा पोहा इस्तेमाल नहीं किया है इसलिए इसमें फिर से पानी छिडकने की जरूरत नहीं है । मोटे पोहे को पानी डालकर भिगोना पड़ता है और इसमें काफी वक़्त लगता है |p11p12p14
  3. पोहा भीग कर  मुलायम हो जाता  हैं |p13
  4. अब इसमें नमक और चीनी डालिये ।p15
  5. इसमें निम्बू का रस डाल  कर इसे हलके हात या चम्मच से मिला ले ।p16
  6. कढ़ाई में तेल गरम करने रखिये |p4
  7. इसमें राई और जीरा डालिएp5
  8. जैसे ही ये कड़कने लगे इसमें हरी मिर्च डालियेp6
  9. करीपत्ता डालिये और इसे हल्का करारा होने दीजिये |p7
  10. अब इसमें प्याज और नमक एक साथ डालिये । नमक बिलकुल थोड़ा डालिये क्योंकि पोहा में वो पहले   ही डाला है , नमक सब्जियां और प्याज को जितना लगेगा उतना ही डालें । नमक डालने से प्याज और सब्जियां जल्दी पक जाएगी|p8
  11. जैसे ही प्याज मुलायम हो जाए उसमें सब्जियां डालकर सही से मिलाये । ढक्कन ढककर  इसे धीमी गैस पर २-३ मिनट के लिए पकने दें , सब्जियां मुलायम हो जाएगी ।p9
  12. अब इसमें भुनी हुई मूंगफल्ली डालें , आप चाहें तो ताली मूंगफल्ली भी डाल सकतें हैं पर इससे पोहा की कैलोरीज बढ़ जाएगी ।p17
  13. हल्दी डालकर सही से मिला ले ।p18
  14. अब इसमें पोहा डालकर इसे सही से मिला कर ३-४ मिनुत ढकान ढककर पकाने दें ।IMG_4081
  15. बारीक़ कटा हरा धनिया डालें ।p19
  16. पोहा तैयार है इसे बारीक़ कटे धनिया और  बारीक़ कदुक्कस किए नारियल से सजाये | गरमा-गरम पोहा serve  कीजिये |

    poha banaane ki vidhi hindi mein
    पोहा रेसिपी

[/directions]

 

पनीर पराठा रेसिपी | Paneer Paratha Recipe in Hindi

1
पनीर पराठा रेसिपी हिंदी भाषा में (paneer paratha recipe in hindi language)
पनीर पराठा
पनीर पराठा रेसिपी हिंदी भाषा में (paneer paratha recipe in hindi language)
पनीर पराठा

यह पराठा बनाने में तो आसान है  और अगर इसे सही तरह से बनाया जाए तो यह एक आसानी से बनने वाला हेल्दी ब्रेकफास्ट(healthy breakfast) है इसे बनाने में ज्यादा समय नहीं लगता ना ज्यादा सामग्री|

पनीर पराठा रेसिपी (Paneer Paratha Recipe)

बहुत बार काफी सारा दूध घर में बचाता है ,ऐसे समय में या तो इस दूध का दही जमा देती हूं या फिर इससे पनीर बना देती हूं |पनीर को सेट करने में थोड़ा टाइम लगता है अगर मेरे पास समय ना हो तो मैं  छलनी से छानकर इसका पनीर बनाती हूं, यह पनीर ग्रेवी के लिए तो सही नहीं होता पर छानकर बने इस पनीर के पराठे बहुत ही अच्छे बनते हैं| जब किसी दिन बच्चे दूध ना पीना चाहे तब आप इस तरह से पनीर बना कर उसके पराठे बना सकते हैं ,यह पराठे सभी को अच्छे लगते हैं| अगर आपके पास बना बनाया पनीर है तो आप बड़ी आसानी से इसे कद्दूकस करके इसके पराठे बना सकते हैं|

[box]Also Check –Healthy Paratha recipes [/box]

पनीर पराठे को बनाने के लिए आपको निम्लिखित चीजों की जरूरत पड़ेगी (Ingredients required to make paneer paratha)pp 21

पनीर या दूध(Paneer/ milk)-

अगर घर में पनीर नहीं है तो बड़ी आसानी से नींबू या सिरका(vinegar) डालकर दूध से पनीर जमाया जा सकता है |पनीर पराठे के लिए पनीर के काफी छोटी टुकड़े चाहिए होते हैं इसलिए इस पनीर को सेट करने की जरूरत नहीं होती आप इसे सही से छानकर तुरंत इस्तेमाल कर सकते हैं| आप चाहे तो यह पनीर आप फुल क्रीम दूध से बना सकते हैं लेकिन इसमें fats की मात्रा बहुत ज्यादा होती है अगर आप डायट(diet) के पास ध्यान रखते हैं तो toned या double toned दूध इस्तेमाल कर सकते हैं|

आटा (flour)-

इस रेसिपी को बनाने के लिए गेहूं का आटा(whole wheat flour) या फिर मल्टीग्रेन आटा(multigrain flour) इस्तेमाल कर सकते हैं |

मसाले(spices)-

इस पराठे में चाहे वह मसाले डाल कर इसे अलग-अलग तरह से बना सकते हैं ,इस रेसिपी में मैंने इसे चाट मसाला, हरी मिर्च, धनिया डालकर बनाया है अगर आप चाहे तो इसमें प्याज, लहसन, अदरक, गरम मसाला भी डाल सकते हैं |

अगर स्टफ पराठा बनाना परेशानी लग रही हो तो आटे में सारे मसाले और कद्दूकस किया हुआ पनीर मिलाकर इसे गूंध लीजिए और इसे बेलकर पराठे बना लीजिए । ऐसा बना पराठा भी स्वादिष्ट लगता है, और बनाने में भी आसान है|

[box]Also check – Paratha side dish recipes[/box]

कैसे बनाएं पनीर पराठा healthy (How to make Paneer Paratha Healthy)pp 20

पनीर पराठे में सिर्फ पनीर और मसालों के अलावा उबला आलू ,कद्दूकस की हुई सब्जियां(grated vegetables) जैसे गाजर, पत्ता गोभी,जुकीनी (zucchini), लौकी(bottle gourd) जैसी सब्जियां या बारीक कटी हुई लाल पीली या हरी शिमला मिर्च(bell pepper) ,बारीक कटा हुआ प्याज भी डाल सकते हैं सब्जियों के साथ बना यह पराठा बहुत स्वादिष्ट लगता है और साथ ही साथ आप सुबह के ब्रेकफास्ट में काफी सारी सब्जियां इस्तेमाल कर सकते हैं |इससे यह ब्रेकफास्ट healthy और complete बनता है बच्चों को भी सब्जियों के साथ बना यह पनीर पराठा बहुत अच्छा लगता है |सब्जियों के साथ पनीर परांठा stuff बनाना थोड़ा मुश्किल होता है क्योंकि बहुत बार सब्जियां पानी छोड़ती है इसीलिए मैं इसमें उबला हुआ आलू डालती हूं आलू सब्जियों का अतिरिक्त पानी  सोख लेता है |

[box]Also Check- Whole Wheat flour bhatura recipe[/box]

मैंने इस पराठे में पनीर(paneer) के साथ साथ उबला आलू (boiled potato)बारीक़ कद्दूकस किआ हुआ गाजर डाला है , आप इसें सिर्फ पनीर डालकर भी बना सकते हैं ।आपको यह रेसिपी कैसी लगी या आप इसे कैसे बनाना पसंद करते है यह सारी बातें आप मुझे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स (comment box) में जरूर लिखिए |

[ingredients title=”पनीर पराठा बनाने के लिए  लगने वाली सामग्री (Ingredients required to make Paneer Paratha)”]

आटा  गूथने के लिए (paneer paratha dough ingredient)

  • ३ कप गेंहू का आटा (whole wheat flour)
  • पानी आटा गूंथने के लिए (water to knead dough)
  • १/२ टीस्पून हल्दी (turmeric)
  • १/२ टीस्पून लाल मिर्च पाउडर (red chili powder)
  • १ टीस्पून तेल(oil)
  • नमक  स्वादानुसार(salt to taste)

पराठे में भरने के लिए (paneer paratha stuffing ingredients)

  • १ कप कद्दूकस किया पनीर (grated paneer)
  • १ मध्यम आकर का उबला आलू कद्दूकस किया हुआ(smashed boiled potato)
  • १/२ कप कद्दूकस किया हुआ गाजर (grated carrot)
  • २ बारीक़ कटी हरी मिर्च (finely chopped green chilies)
  • १ – १ १/२ टीस्पून चाट मसाला (chaat masala)
  • २ टेबलस्पून बारीक़ कटा धनिया (finely chopped coriander)
  • नमक  स्वादानुसार(salt to taste)
  • तेल या घी पराठा सेकने के लिए(oil/ ghee to roast paratha)

[/ingredients]

[directions title=”पनीर पराठा बनाने की विधि (Step by Step Directions to make Paneer Paratha)”]

  1. आटे में हल्दी नमक लाल मिर्च और डालकर मिला दीजिए |pp 1
  2. अब इसे पानी डालकर मुलायम गूंद लीजिए ।pp 2pp 3
  3. अब इस आटे को तेल लगा कर सही से मसल लीजिए, इसे बर्तन से ढाक रख दीजिए|pp 4pp 5
  4. स्टफिंग बनाने के लिए कद्दूकस किआ पनीर गाजर और उबला आलू एक प्लेट में लीजिए , और इसमें चाट मसाला ,नमक, बारीक़ कटी हरी मिर्च और बारीक़ कटा हरा धनिया दाल दीजिये । जब मैंने पराठा बनाए था तब घर में हरा धनिया नहीं था , इसलिए इस स्टफिंग में धनिया नहीं डाला हैं ।  आप इस स्टफिंग को गरम मसाला लाल मिर्च पाउडर आदि डालकर भी बना सकते हैं |pp 6
  5. स्टफिंग के मिश्रण को सही से मिला लीजिए |pp 7
  6. गैस पर तवा गर्म करने रखिए
  7. अब एक लोई लीजिए, उसे सूखे आटे की मदद से लगभग 3 इंच के गोले में बेलिए|pp 8pp 9
  8. अब इसके बीच में जितनी बड़ी लोई ली है उतना या उससे ज्यादा पनीर का स्टफिंग रखिए , जितनी ज्यादा स्टाफिंग होगी उतना ही परांठा स्वादिष्ट बनता है|pp 10
  9.  धीरे-धीरे जैसा की फोटो में दिखाया गया है,  इसको बंद करिए | ऊपर से आटे का एक्स्ट्रा(extra) हिस्सा हटा दीजिये, ऐसा करने से पनीर की स्टफिंग(stuffing) सही से फैलेगी और पराठा भी अच्छे से फूलेगा|pp 11
  10. अब इसको सूखा आटा लगाकर हलके हाथ से पराठा बेल लीजिए|pp 13
  11.  पराठे को दोनों तरफ से हल्का हल्का तेल या घी लगाकर मध्यम आंच पर सेंक लीजिए|pp 17
  12. पराठे  को तवे से उठाकर किचन नैपकिन पर रख दीजिए | सारे पराठे इसी तरह तैयार कर लीजिए| आप चाहे तू इस पराठे को बिना तेल या घी  लगाकर बना सकते हैंpp 18
  13. इस पराठे को टमाटर की चटनी, दही ,बटर, रायता या सॉस के साथ serve कीजिए | यह पराठा बिना किसी साइड डिश के साथ भी बहुत अच्छा लगता है |बच्चों को यह पराठा टिफिन में भी दे  सकते हैं । यह पराठा किसी भी पराठा  साइड डिश (paratha side dish)के साथ खाया जा सकता है
    पनीर पराठा रेसिपी हिंदी भाषा में (paneer paratha recipe in hindi language)
    पनीर पराठा

     

[/directions]

 

दाल फ्राई रेसिपी | Dal Fry Recipe in Hindi

2
दाल फ्राई हिंदी में
दाल फ्राई बनाए मिट्टी की हांडी में
how to make dal fry in hindi
दाल फ्राई जीरा राइस

 

दाल फ्राई (Dal Fry) तुवर, मसूर, मूंग, उड़द और चने की दाल को मिक्स करके या इनमें से कोई दो या तिन दालों को मिलाकर बनायीं जाती है । यह के स्वादिष्ट पंजाबी दाल की रेसिपी है जो हर किसी को पसंद आती है । हर बार आप इस दाल को बनाने के लिए जो चाहे वो कॉम्बिनेशन(combination) कर सकते हैं या इन पांचो दालों को मिला कर ये दाल बना सकते हैं । दाल फ्राई बनाने के बाद सिर्फ जीरा राइस या प्लैन राइस बनाए और आपका खाना तैयार हो जाता है , इस दाल का स्वाद इतना बढ़िया होता है की इसके साथ किसी और चीज़ की जरूरत नहीं होती । जिस दिन घर में काम बहोत ज्यादा होता है में यही खाने का मेनू बनाना पसंद करती हूँ ।

[Box]Also Check- Tasty Moong Ki dal Recipe Without Pressure cooker in Hindi [/box]

दाल फ्राई रेसिपी (Dal Fry Recipe)

dal fry recipe in hindi language
दाल फ्राई

दाल फ्राई रेसिपी में मैने पांच तरह की दालों को एक साथ मिक्स करके बनाया है । यह दाल आप घर में अलग अलग दालों को मिक्स करके या आप बाजार से इन मिक्स्ड दालों का पैकेट ला सकते हैं । उत्तर भारत में तो लगभग हर किराने का सामान की दूकान पर मिक्स्ड दाल (mixed daal) का पैकेट मिल जायेगा । इसमें मूंग, मसूर , चना , अरहर ,उरद इत्यादि दालें सामान मात्रा में मिली रहती है । घर पर चाहे तो अपने हिसाब से जो दाल सबको घर में अच्छी लगती हैं उन दालों को मिलाकर आप दाल फ्राई बना सकते हैं|df5

दाल फ्राई की रेसिपी में मुख्य काम इस पकी हुई दाल का तड़का बनाना है । इसमें प्याज, टमाटर, अदरक, लहसुन का तड़का बटर या घी में लगाया जाता है , इसमें गरम मसाला भी डाला जाता है , पर इस दाल  को पारंपरिक (authentic) स्वाद देने के लिए कसूरी मेथी  इसमें डालना बहोत जरूरी है । इसका तड़का जब बनता है तो खुशबू बाहर तक आ जाती है । बहोत लोग मिटटी के हांडी में दाल को पकाते हैं, इसमें बनी दाल बहोत बढ़िया लगती है पर इसमें घंटे लग जाते हैं| इसलिए में कुकर में इस दाल को पकाकर बाद में मिटटी की हांडी में तड़का लगाकर १५- २० मिनट इस दाल को पकाती हूँ , मिटटी की हांडी में खाना नहीं जलता और एक बार गरम होने के बाद ये काफी समय तक गरम रहती है। मिटटी की हांडी में बनी दाल का स्वाद कुछ और ही है |

दाल फ्राई हिंदी में
दाल फ्राई बनाए मिट्टी की हांडी में

कैसे बनाए दाल फ्राई को रेस्टोरेंट स्टाइल (How to make Dal fry Restaurant Style)

इस दाल को रेस्टोरेंट स्टाइल का बनाने के लिए आप ढुंगर पद्धति(dhungar method) का इस्तेमाल कर सकते है । इससे वह स्मोकी (smoky) फ्लेवर इस दाल को आप दे सकते हैं | इसके लिए लकड़ी के कोयले(charcoal) की जरूरत पड़ेगी । ढुंगर एक प्राचीन पद्धति है जिसमें लकड़ी के कोयले को तेज आंच  पर गरम कर इसपर घी और साबुत मसाले डाले जाते हैं । इस पद्धति के खाने को एक विशेष स्वाद मिलता है । आपको अगर लकड़ी का कोयला न मिले तो आप बिना ढुंगर पद्धति से ये दाल बनाए ।

[Box]Also Check –Rajma Chawal recipe[/box]
df33

Calories in Homemade Toor Dal Fry

Nutrition Facts

Homemade – Toor Dal Fry

  •  
Calories 100 Sodium 5 mg
Total Fat 0 g Potassium 405 mg
Saturated 0 g Total Carbs 18 g
Polyunsaturated — g Dietary Fiber 4 g
Monounsaturated — g Sugars 0 g
Trans — g Protein 6 g
Cholesterol 0 mg
Vitamin A 0% Calcium 4%
Vitamin C 0% Iron 9%

*Percent Daily Values are based on a 2000 calorie diet. Your daily values may be higher or lower depending on your calorie needs

Source-myfitness.com

कैसे बनाये दाल फ्राई हेल्थी (How to make Dal fry Recipe healthy)

दाल फ्राई (dal fry)एक हाई प्रोटीन(protein) रेसिपी हैं । वेजेटेरियन (vegeterian) लोगों के डालें डेली डाइट प्लान(daily diet plan) में होनी ही चाहिए । इसे अगर सही तरीके से बनाया जाये तो ये एक हेल्थी रेसिपी(healthy recipe) हैं । दाल फ्राई को बनाते वक़्त तड़के में घी की मात्रा बहोत ज्यादा न रखे , इससे इसमें फैट्स की मात्रा आप कम कर सकते हैं । इसे लो फैट्स(low fats) बनाने  के लिए तड़के में कम से कम घी का प्रयोग करे । दाल फ्राई के साथ जरूरी नहीं की सिर्फ वाइट राइस खाया जाये ,इसके साथ ब्राउन राइस(brown rice) या बॉयल्ड ब्राउन(boiled brown rice) राइस भी खा सकते हैं । अगर आप diabetic हैं या आपको चावल खाना मना है तो दाल फ्राई को रोटी ,फुल्की या प्लैन दलिया के साथ भी खाया जा सकता है | दाल फ्राई (dal fry) बनाते वक्त धुली दाल की जगह छिलके वाली दाल का प्रयोग कीजिए यह दाल पाचन के लिए अच्छी होती है| मैंने दाल फ्राय की रेसिपी में आज अलग अलग तरह की दालों को मिक्स करके बनाया है, आप चाहे तो इसे कोई भी दो या दो से ज्यादा दालों  को मिक्स करके बना सकते हैं| रेसिपी दाल फ्राय रेसिपी को बनाने की विधि मैंने step by step फोटो के द्वारा बताई है, आपको यह दाल जरूर पसंद आएगी|

मैंने दाल फ्राई की यह रेसिपी क्रमशः फोटो द्वारा बतायी है |आपको यह रेसिपी कैसी लगी या आप इसे कैसे बनाना पसंद करते है यह सारी बातें आप मुझे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स (comment box) में जरूर लिखिए |

[ingredients title=”दाल फ्राय बनाने के लिए आवश्यक सामग्री Ingredients to make Dal Fry “]

  • ४ टेबल स्पून अरहर दाल (arhar dal / toor dal / tuvar dal)
  • 2 टेबल स्पून छिलके वाली मूंग दाल (moong dal chilke waali)
  • 2 टेबल स्पून छिलके वाली उड़द दाल (udad dal chilke wali )
  • 2 टेबल स्पून मसूर दाल (masoor dal)
  • 2 टेबल स्पून चना दाल (chana dal)
  • २  कप पानी
  • ५-6 लहसुन की कली(garlic cloves) 1 इंच अदरक(ginger) या 2 टेबल स्पून अदरक लहसुन की पेस्ट(ginger garlic paste)
  • १ प्याज (onion)
  • २  टमाटर (tomato)
  • २-३ बारीक कटी हरी मिर्च (finely chopped green chilies)
  • १ टेबलस्पून कसूरी मेथी (kasuri methi)
  • १ टीस्पून  धनिया पाउडर (dhaniya powder / corriander powder)
  • १/२ टीस्पून लाल मिर्च पाउडर (laal mirch powder / red chili powder)
  • १ टीस्पून हल्दी (haldi/ turmeric)
  • १/४ टीस्पून हींग (hing / asafoetida)
  • १ टीस्पून जीरा (jeera/ cumin seeds)
  • १ टीस्पून राई (rai / mustard seeds)
  • एक नींबू का रस (nimbu ka ras/ lemon juice)- optional
  • धनिया के पत्ते (dhaniya ke patte / coriander leaves)
  • नमक स्वादानुसार

ढुंगर के विधि की सामग्री (for dhungar method)- optional

  • एक छोटा लकड़ी के कोयले का टुकड़ा (small piece if charcoal)
  • एक चम्मच घी (ghee)

[/ingredients] [directions title=”दाल फ्राय बनाने की विधि (Step by Step directions to make dal fry )”]

  1. सारी दालों को मिलाकर उसे साफ पानी से धो लीजिए|df6
  2. इसे 10 से 15 मिनट पानी में भिगोकर रख दीजिए ।दालें भीग जाने के कारण जल्दी पक जाएगी, इससे गैस भी कम लगता है|df7
  3. दाल कुकर में ४ कप पानी डालकर उबालने के लिए रख दीजिये|df8
  4. जैसे ही दाल उबलने लगेगी इस पर झाग आने लगेगा ।df9
  5. चम्मच से इस झाग को हटा दीजिये ।df10
  6. ढक्कन लगाकर तीन चार सिटी आने के बाद गैस को धीमा कर ४-५ मिनट चलने दे , उसके बाद इसे बंद कर दे |df11
  7. कढ़ाई या हांडी में घी गरम कर लीजिए । इसमें हींग और जीरा डालकर भून लीजिए ।df15
  8. अब इसमें बारीक कटी हरी मिर्च |df16
  9. अब इसमें बारीक़ कटी प्याज और १/२ चम्मच नमक डालकर प्याज को भूनिये।नमक डालने के कारन प्याज जल्दी भून जाएगी ।df17
  10. प्याज जैसे ही मुलायम हो जाए तब उसमें बारीक़ कटी अदरक और लहसुन या अदरक लहसुन की पेस्ट डालकर  इसे हलका भूनिये|df19
  11. अब इसमें बारीक़ कटा टमाटर दाल दीजिये |df20
  12. टमाटर जैसे ही पक कर मुलायम हो जायेगा इसमें गरम मसाला , लाल मिर्च पाउडर ,हल्दी और धनिया पाउडर डाल दीजिए|df21
  13. इसे तब तक भूनिये जब तक टमाटर प्याज में घुल न जाये अब  इसमें कसूरी मेथी डाल कर अच्छी से मिला दीजिये ।df22
  14. इस भुने हुए मसाले में पकी हुई दाल डालिए और इसे मिक्स कीजिये ।df23
  15. आवश्यकता के अनुसार इसमें पानी दाल कर इसे उबालियेdf24
  16. दाल का स्वाद लेकर आवश्यकतानुसार इसमें नमक डालिए ,हमने दाल पकाते वक्त नमक डाला था और  प्याज में भी नमक डाला था इसलिए दाल का स्वाद लिए बिना नमक ना डालें|df25
  17. यह दाल १०-१५ मिनट तक धीमी गैस पर पकाइये ।df26

ढुंगर की विधि

  1. अगर आप ढुंगर करना चाहे तो लकड़ी के कोयले का (लगभग १-२ inch) बड़ा टुकड़ा ले और चिमटे की मदत से इसे गैस की लौ पर पकड़िए ।df27
  2. कोयला लगभग ३-४ मिनट में लाल होकर भूरा होने लगेगा ये अब ढुंगर के लिए तयार है|df28
  3. एक छोटी कटोरी में कोयले को रखिये । df29
  4. कोयले पर १ चम्मच घी डालें ,इसमें से धुआं निकलना शुरू हो जाएगा ।df30
  5. इस कटोरी को तुरंत दाल के ऊपर रख दें और हांडी को ढक्कन से ढाक दें |df31
  6. धीमी  गैस पर इसे १ मिनट तक ढाक कर रखिये ढक्कन खोले और कोयले की कटोरी हटा दें ।df32
  7. आपकी दाल फ्राई तयार है आप चाहें तो इसमें निम्बू का रस दाल दीजिये । ढुंगर के कारण इस दाल फ्राई के स्वाद बढ़िया हो जायेगा ।

    दाल फ्राई हिंदी में
    दाल फ्राई बनाए मिट्टी की हांडी में
  8. दाल फ्राई जीरा राइस , प्लैन राइस या ब्राउन राइस के साथ परोसिये |

    how to make dal fry in hindi
    दाल फ्राई जीरा राइस

[/directions]

नारियल की चटनी | Nariyal ki Chatni in hindi | Coconut Chutney Recipe in hindi

0
coconut chatni recipe in hindi
नारियल की चटनी | coconut chutney in hindi

nc10नारियल चटनी (coconut chutney) साउथ इंडियन रेसिपीज जैसे इडली (idli), डोसा (dosa), वडा(vada), उत्तपम(uttapam) के साथ खायी जाती है । नारियल चटनी के बिना तो इन सबका स्वाद अधूरा रह जाता है | नारियल की चटनी बनाने में सबसे ज्यादा टाइम सिर्फ कच्चा  नारियल फोड़ने और उसे निकलने में लगता है । में जब छोटी थी तब हर शनिवार घर में १-२ नारियल फोड़े जाते थे, या तो हम इस नारियल को कच्चा खाते थे या मेरी  मम्मी इस नारियल से चटनी ,लड्डू , सब्जी की ग्रेवी या हप्ते भर में बनने वाले नाश्ते जैसे पोहा ,उपमा इत्यादि पर garnishing  के लिए इस्तेमाल करती थी ।

नारियल की चटनी – Nariyal ki Chatni (coconut chutney)

nc9नारियल की यह चटनी इडली(idli), डोसा(dosa) ,वडा(vada) , उत्तपम या परांठे के साथ खायी जा सकती है।  गुजरती और महाराष्ट्रियन लोगो के यंहा थाली में इस चटनी को थोड़ा सूखा बना कर परोसा जाता है । व्रत में इस चटनी को बिना लहसुन(garlic), करीपत्ता(curry leaves) के बनाकर परोसा जाता है , यह साबूदाना खिचड़ी , सिंघाड़े पराठे, व्रत के डोसा के साथ भी बहुत अच्छी लगती है ।यह चटनी स्वादिष्ट तो बनती ही है पर साथ ही साथ इसे खाने के काफी फायदे (हेल्थ benefits)भी हैं|

nariyal ki chatni with dosa
nariyal ki chatni with dosa

इसे बनाने के लिए डाली जाने वाली हर सामग्री के फायदे है जैसे –

नारियल (coconut)-

नारियल खाने के काफी फायदे हैं |नारियल heart के लिए बहोत अच्छा माना जाता है ,इसमें medium chain fatty acids (MCFA) पाए जाते है जो heart diseases रोकने में मदत करते हैं | साथ ही साथ इसमें fiber की मात्रा भी बहोत  ज्यादा है| इसका  glycemic index भी  बहोत कम है और ये शुगर को कंट्रोल में रखता है इसलिए डायबिटीज के लोगो के लिए नारियल खाना अच्छा माना जाता है । इससे digestion ठीक रहता है और साथ ही साथ ये भरपूर energy देता है| इन सबके  अलावा नारियल में ट्रांस fats नहीं हैं और इसमें antibacterial ,antiviral और anti parasitic healing properties है| यह हमारी रोग प्रतिकार शक्ति को बढ़ाता है|

मूंगफली / चटनी वाली दाल (दालिया )-

इस चटनी में नारियल के अलावा मूंगफली(moongphalli/ peanuts) या चटनी वाली दाल या दालिया डाली जाती है| इससे चटनी को अच्छी  consistency तो मिलती ही है पर साथ ही साथ दालिया और मूंगफली दोनों ही खाना सेहत के लिए  अच्छा होता है।  moongphalli से  काफी एनर्जी मिलती है और दालिया  खाने से proteins | nc11

धनिया पत्ता (corriander leaves)-

कुछ लोगों को कच्चा धनिया पत्ता पता नहीं क्यूँ  पसंद नहीं आता, पर इस चटनी को कच्चे धनिये से एक अच्छा स्वाद मिलता है, धनिया न पसंद आने वाले लोगो को भी ये चटनी पसंद आती है| कच्चा धनिया (corriander leaves) के काफी फायदे (health benefits) है ।यह त्वचा, आँखों और blood pressure इत्यादि के लिए बोहोत फायदेमंद है|

कैसे आसान बनाए  नारियल तोडना और इसका सख्त छिलका निकालना (how to remove coconut from hard shell)

नारियल की चटनी खाने में तो बड़ी मजेदार लगती है पर इसे तोड़कर इसका निकालना म्हणत वाल काम है । इस काम को वैसे बड़ी आसानी से किया जा सकता है । नारियल में तेल की मात्रा बोहोत होती है और ये तेल ठन्डे तापमान पर बहुत जल्दी जम जाता है । नारियल को बाजार से लाने के बाद इस रेफ्रीजिरेटर में deep freeze में रख दे , ७-८ घंटे रेफ्रीजिरेटर में रहने के बाद यह नारियल अपना कड़क छिलका अंदर के गोले से अलग हो जाता है , क्यूंकि  इसका कड़क छिलका टूटने योग्य (brittle) हो जाता है और गोले का तेल जम जाने के कारन वह  छिलका छोड़ देता है  , इस नारियल को फोड़ते ही गोला बड़ी आसानी से छिलके से अलग हो जाता है| इस तरह जो झंझट वाला  काम है वह बड़ी आसानी से पूरा हो जाता है । अब ये कच्चे नारियल का गोला आप चाहे जिस चीज़ में इस्तेमाल कर सकते है। आप इसका काला चिल्का पिलर की सहायता से हटा लीजिए जिससे यह काला रंग चटनी या किसी भी रेसिपी में नहीं दिखेगा |

मैंने नारियल की चटनी की यह रेसिपी क्रमशः फोटो द्वारा बतायी है |आपको यह रेसिपी कैसी लगी या आप इसे कैसे बनाना पसंद करते है यह सारी बातें आप मुझे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स (comment box) में जरूर लिखिए |

[ingredients title=”नारियल की चटनी (coconut chutney)बनाने की सामग्री Ingredients to make Nariyal ki Chutney”]

चटनी की सामग्री

  • १/२ नारियल के टुकड़े या कदूकस कर लीजिए (coconut pieces / grated coconut)
  • ३-४ हरी मिर्च (mirch-green chilies)
  • २- ३ लहसुन की ३-४ कलियाँ (lehsun-garlic cloves)
  • १/२ कप धनिया (dhaniya-corriander)
  • १/२ कप भुने हुई मूंगफली के दाने(moongphalli-peanuts)
  • १ निम्बू का रस (nimbu-lemon)
  • नमक स्वादानुसार (namak-salt to taste)

तड़के की सामग्री

  • १ टीस्पून तेल (tel-oil)
  • १/२ टीस्पून राइ (rai-mustard seeds)
  • १/२टीस्पून जीरा (jeera)
  • १ चुटकी हींग (asafoetida)
  • १५- २० करी पत्ता

[/ingredients]

[directions title=”नारियल की चटनी बनाने की विधि (nariyal ki chutney banane ki vidhi )Directions to make coconut chutney”]

  1. चटनी बनाने की सारी सामग्री को मिक्सर (mixer)के जार (jar) में डाल दीजियेnc1
  2. इसमें २-३ चम्मच पानी डाल कर पीस लीजिए , जादा पानी पहले ही डाल देंगे तो मिक्सर के जार से चटनी बाहर उड़ने के सम्भावना बहोत ज्यादा होती  हैं ।nc2
  3. चटनी हलकी मोटी पीसने के बाद और थोड़ा पानी डालकर इसे बारीक़ पीस ले |nc3
  4. चटनी को कटोरे में निकालकर आवश्यकता नुसार जितना गाढ़ा (thick)रखना है उस हिसाब से पानी इसमें मिला लीजिए |nc4
  5. तड़के के लिए छोटी कढ़ाई में तेल गरम कर ले |IMG_5057
  6. इसमें राइ डाले , राय कड़कने के बाद जीरा डाले|nc5
  7. अब इसमें हींग और करीपत्ता डाल दीजिये ।nc6
  8. करी पत्ता हल्का करारा होने के बाद गैस बंद कर दीजिये ।nc7
  9. अब इस तड़के को चटनी में डाल कर मिला दीजिये|nc8
  10. नारियल की चटनी तैयार है, आप इसे इडली (idli), डोसा(dosa) , उत्तपम(uttapam) ,वडा (vada)या अपने किसी भी पसंदीदा खाने के साथ खा सकते हैं ।nc10

[/directions]